EENN

JHRKHAND GK AND CURRENT AFFAIRS

झारखंड की सलीमा टेटे सम्मानित

EENN

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने दिल्ली में झारखंड की सलीमा टेटे को सम्मानित किया. सलीमा झारखंड के सिमडेगा जिले की रहने वाली है. सलीमा की ही कप्तानी में अर्जेटीना में आयोजित तीसरे यूथ ओलिंपिक गेम्स में भारतीय महिला हॉकी टीम ने रजत पदक जीता था. भारतीय टीम ने फाइनल में अर्जेंटीना को 3-1 से हराया था. सिमडेगा के सदर प्रखंड के बड़की छापर की रहने वाली सलीमा शुरू से ही प्रतिभाशाली खिलाड़ी रही हैं. वह यूथ ओलंपिक क्वालीफाइंग टीम में भी कप्तान रही हैं. अंडर-18 एशिया कप 2016 में कांस्य पदक जीतने वाली भारतीय टीम की उपकप्तानी कर चुकी हैं. इसके अलावा बेल्जियम दौरे के साथ-साथ नवंबर 2016 में उन्होंने सीनियर भारतीय महिला हॉकी टीम के सदस्य के रूप में अपनी दमदार उपस्थिति दर्ज करायीं.

रानी मुर्मू को साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार-2018

साहित्य अकादमी नयी दिल्ली की ओर से साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार-2018 के तहत सम्मानित किये जानेवाले साहित्यकारों की सूची भी जारी कर दी गयी है. शुक्रवार को गुवाहाटी में अध्यक्ष चंद्रशेखर कंबार की अध्यक्षता में एक बैठक बुलायी गयी थी. इस बार संताली का साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार संताली साहित्यकार जमशेदपुर के देवघर(बीरडीह) की रहनेवाली रानी मुर्मू को दिया गया है़ रानी मुर्मू को यह पुरस्कार उनकी संताली कहानी संग्रह होपोन मइया: कुकमू' (छोटी बहन का सपना) के लिए दिया गया है़ साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार जीतनेवाली रानी मुर्मू संताली साहित्यकार होने के साथ-साथ पेशे से आरवीएस कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी जमशेदपुर में ट्रेनिंग एवं प्लेसमेंट सेल में सपोर्टर के रूप में काम करती हैं.
good hits


नागरिकता (संशोधन) विधेयक 2019

लोकसभा में नागरिकता (संशोधन) विधेयक, 2019 पारित किया गया, इस बिल के द्वारा नागरिकता अधिनियम, 1955 में संशोधन किया जायेगा।इस बिल के द्वारा बांग्लादेश, पाकिस्तान और अफ़ग़ानिस्तान के प्रताड़ित हिन्दू, जैन, सिख, इसाई, बौद्ध तथा पारसी नागरिकों को भारत की नागरिकता प्रदान की जाएगी। रिपोर्ट के अनुसार प्रताड़ित धार्मिक अल्पसंख्यकों के लिए सरकार 31 दिसम्बर, 2014 को कट ऑफ डेट निश्चित कर सकती है। परन्तु कांग्रेस एवं तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों द्वारा इस बिल का विरोध किया गया है.

आर्थिक रुप से पिछड़ों के लिए आरक्षण विधेयक राज्यसभा में पास

सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से पिछड़े लोगों को 10 प्रतिशत आरक्षण देने के लिए लाया गया संविधान संशोधन (124वां संशोधन) विधेयक राज्यसभा से 9 दिसंबर को पास हो गया । यह विधेयक लोकसभा में 8 जनवरी को ही पारित हो चुका है। संविधान 124 वां संशोधन 2019 विधेयक को 7 के मुकाबले 165 मतों से मंजूरी दे दी। इससे पहले सदन ने विपक्ष द्वारा लाए गए संशोधनों को मत विभाजन के बाद नामंजूर कर दिया। सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच 124वां संविधान संशोधन विधेयक 2019 सदन में रखा।10 फीसदी का ये आरक्षण मौजूदा 49.5 प्रतिशत आरक्षण से अलग होगा। आरक्षण आर्थिक रूप से पिछड़े ऐसे गरीब लोगों को दिया जाएगा जिन्हें अभी मौजूदा आरक्षण व्यवस्था के तहत फायदा नहीं मिल रहा है। फैसले को लागू करने के लिए संविधान के अनुच्छेद 15 और 16 में नए उपबंध जो़ड़े जा रहे हैं ।

आर्थिक रूप से कमज़ोर वर्ग को आरक्षण देने संबंधी बिल लोकसभा से पारित

देश में आर्थिक तौर पर कमजोर लोगों को शिक्षा एवं सरकारी नौकरियों में 10 फीसदी आरक्षण सुनिश्चित करने वाला 124वां संविधान संशोधन विधेयक मंगलवार को लोकसभा में पारित हो गया. विधेयक पर हुए मतदान के दौरान पक्ष में 323 वोट पड़े, वहीं विपक्ष में 3 वोट पड़े. सरकार की ओर से केंद्रीय सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री थावरचंद गहलोत ने इसे सदन में पेश किया. उन्होंने कहा कि गरीबों के लिए ये आरक्षण पहले के आरक्षण को बिना छेड़े दिया जा रहा है और इसमें हर धर्म के लोग शामिल होंगे.लोकसभा के बाद अब इस विधेयक को राज्यसभा से पारित कराना होगा और उसके बाद राष्ट्रपति की मंजूरी लेनी होगी, जिसके बाद ये कानून बन जाएगा.
Free Web Hosting